संदेश

Nps पेंशन फण्ड मैनेजर चेंज कैसे करें क्या है फायदे ohoo 1

चित्र
नेशनल पेंशन सिस्टम क्या है पेंशन का तत्प्रय होता है कार्य सेवा के समाप्ति के पश्चात इन्कम का स्रोत।पेंशन नियोक्ता के द्वरा की जाने वाली भुकतान जो कर्मचारी को दी जाती है । किसी भी कार्य को निष्पादित करने हेतु एक योजना और योजन को सुचारू रूप क्रियान्वयन करने हेतु एक प्रणाली की आवश्यकता होती है। भारतीय सरकार के द्वारा निष्पादित एक पेन्शन योजना जो   वर्ष 2004 से क्रियान्वित है का नामांकरण है nps अर्थात नेशनल पेन्शन प्रणाली । वर्तमान में भारतीय सरकार द्वारा क्रियान्वित बहुत सी पेन्सन योजना है जो सरकारी कर्मचारियों के साथ साथ सामान्य भारतीय के लिए भी लाभकारी है । नेशनल पेन्शन सिस्टम के स्तंभ नेशनल पेन्शन प्रणाली को सुचारू रूप से क्रियान्वित करने हेतु तीन प्रणालियां सेवा रात है। अर्थात नेशनल पेंशन योजना के तीन चरण है। 1 फंड का संग्रह  2 पेंशन फण्ड मैनेजर 3 पेंशन प्रदाता 1 फण्ड का संग्रह   नेशनल पेन्शन प्रणाली में फंड संग्रह हेतु भारत सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त दो प्राधिकरण क्रयरत है जिसे हम cra अर्थात center record keeping agency ( केंद्रीय अभिलेख संग्रह उपक्रम) कहते है। जिसका क्रय nps मे

छोटी कमाई बड़ा परिवार financial planing kaise 21

चित्र
सीमित कमाई में बड़ी जिमेदरी का निर्वाहन कैसे फाइनेंशियल प्लानिंग एक कला और विज्ञान दोनों है। आप चाहे जितना भी कमाई करते हों आपके पास वित्य स्रोत चाहें कितना भी क्यों न हो परन्तु कभी न कभी आपको वित्य कमी का एहसास जरूर होता है । कभी ना कभी उधार लेने की आवश्यकता जरूर महशुश होती है। प्रकृति का नियम है की आवश्यकताएं कभी ख़त्म नहीं होती आवश्यकताओं के प्रारूप बदल जाती है समस्याएं हमेशा बनी रहती है। इसका मूल कारण है की फाइनेंसियल प्लानिंग कैसे करें का ज्ञान ना होना। फाइनेंशियल प्लानिंग कैसे करें वित्य स्रोत सीमित हमेशा रहेंगे क्योंकि सिस्टम में स्रोत सीमित है प्रकृति ने स्रोत सीमित रखें है परन्तु  आवश्यकताओं की संख्या निरंतर बढ़ती रहती है इसका कारण है स्रोत प्रकृति के सिस्टम की विषय वस्तु है और आवश्यकता मन का विषय है अतः मन का मैनेजमेंट के द्वारा फाइनेंशियल मैनेजमेंट किया जा सकता है यह एक कला है। फाइनेंशियल प्लानिंग फाइनेंशियल प्लानिंग के तत्व का ध्यान देना आवश्यक है जो एक विज्ञान है जिसमे विश्लेषण, प्रयोग और इंप्लीमेंट करना होता है आई उन तत्वों का विश्लेषण प्रयोग और इंप्लीमेंट करते है 1 आय के

hdfc life term insurance क्यों जरूरी है in 21

चित्र
  टर्म इंशयोरेन्स क्यों आवश्यक है टर्म इंश्योरेन्स इसलिए जरूरी है क्योंकि जीवन अनिश्चित है और ये अनिश्चित जीवन ही जीवन को खूबसूरत बनता है। जीवन में होने वाली अनचाहे घटनवों से सुरक्षा देता है hdfc Life term insurance । प्रायः insurance ki सारी कंपनी ही टर्म प्लान प्रोवाइड करती है क्योंकि term प्लान ही प्योर insurance है। टर्म प्लान का मतलब होता है की एक कम धन राशि insurance प्रदाता को एक निश्चित समय अन्तराल के लिए दें और उसके बदले एक बड़ी राशि प्राप्त करें किसी भी तरह के अनजाने अनचाहे दुर्घटना होने पर जो आपके परिवार को मदद होगा आर्थिक रूप से सबल बनाए रखने के लिए। hdfc life term insurance hdfc life term insurance क्या है hdfc life term Insurence एक अच्छा और किफायती  टर्म इंशयोरेन्स प्लान है जो भारत में इंसुरांस सेक्टर में काम करने वाली कंपनियों के द्वरा प्रदान की जाती है। hdfc life term insurance ka नाम है क्लिक टू प्रोटेक्ट 3d है जो आपको 3 dimention की नज़र से देखने पर भी अच्छा ही दिखेगा ।अर्थात कम धन रासी में अधिक धनराशि ज्यादा समय तक की सुरक्षा । 3 d का दूसरा तात्पर्य है जीवन के तीनो

शेयर बाजार क्या है share bazar in 2021

चित्र
शेयर बाजार क्या है इस संसार में वित्त अर्जित करने के कई संशाधन है इन संसाधनों में एक है शेयर बाजार शेयर बाजार पैसे को इनवेस्ट कर सबसे अधिक लाभ प्राप्त करने का एक माध्यम है किन्तु इसमें हानि भी होने की संभावना होती है। शेयर बाजार क्या है इसको जानने के लिए हम व्यापार को विस्तार के बारे में जानेंगे कोई कंपनी के मालिक कंपनी में अपने सारे पैसा नहीं लगता । कम्पनी को  मूल्य वृद्धि करने के लिए पैसे को या तो बैंक से लोन लेना पड़ता है। या कंपनी अपना कुछ शेयर अर्थात कम्पनी का मालिकाना हिस्सा बेचती है जो आईपीओ को निकाल कर करती है।ये आईपीओ एक शुरुआती चरण होता है देश के स्थापित शेयर बाजार  में लिस्ट होने का। शेयर मार्केट में कितनी तरह से इन्वेस्टमेंट होता है शेयर बाजार क्या है जानने के बाद शेयर बाजार  में कितने तरह से investment किया जा सकता है ये जानते है।शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने के दो तरीके है । लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट शेयर बाजार 1 लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट  लॉन्ग टर्म इन्वेस्ट में अपने पैसे को लॉन्ग टर्म अर्थात अधिक समय के लिए इन्वेस्ट किया जाता है । लॉन्ग टर्म इन

term life insurance जरूरी हैin 2021

चित्र
टर्म लाइफ इंशयोरेंस क्या होता है टर्म इंश्योरेन्स एक विशुद्ध इंसुरेंस प्लान है जिसमें बीमा प्रदाता व्यक्ति विशेष को ये गारंटी देता है की व्यक्ति के मृत्यु हो जाने के बाद प्रदाता व्यक्ति के परिवार को एकमुस्त राशि प्रदान करेगा जिससे व्यक्ति का परिवार अपने जीवन को वैसे ही जी सके जैसे व्यक्ति विशेष के जुवीत रहने के समय जीता था। इसके बदले बीमा लेने वाले व्यक्ति को बीमा प्रदाता को निश्चित अंतराल पर प्रीमियम के रूप में एक छोटी राशि प्रदान करनी होती है जो व्यक्ति के माशिक आय और व्यक्ति के उम्र पर निर्भर करता है।  धूम्रपान या कोई नशा करता है उसे या तो प्रदाता कंपनी term insuranse प्रदान करने से इंकार कर देती है या प्रीमियम राशि ज्यादा भुगतान करने पड़ते है। टर्म इश्योरेन्स लेने के लिए व्यक्ति को रोजगार से इनकम होना आवश्यक है। बीना इनकम वाले व्यक्ति को यह plan नहीं मिल सकता या दूसरे के द्वारा term पालन नहीं लिया जा सकत है। टर्म लाइफ इंशयोरेंस के लाभ  टर्म इंश्योरेन्स हर व्यक्ति के लिए आवश्यक है क्योकि जीवन अनिश्चित है जीवन के इस अनिश्चिता के लिए परिवार को एक फाइनेंशियल तोहफा है टर्म लाइफ इंश्यरें

वित्त के प्रमुख स्रोत क्या है vittiy labh 21

चित्र
  वित्त अर्थ क्या है। मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है।इस सामाजिक संगठन को सुचारू रूप से संचालन हेतु एक तर्क संगत प्रभावी व्यवस्था की अवस्कता होती है । समाज में प्रतिव्यक्ती को कुछ ना कुछ वस्तु की आवश्कता होती है। प्रति वस्तु का एक मूल्य समाज के द्वारा निर्धारित की जाती है। अवाय्यक बस्ती को प्राप्त करने हेतु कुछ ना कुछ प्रदान करना पड़ता है चुकीं वस्तु का मूल्य निर्धरित होती है। अधिक या कम मूल्य की जरूरत होने पर वित्त अदान प्रदान गलत हो जाता है। अतः इस व्यवाथा को सही करने के लिए सरकार द्वारा मुद्रा दिया जाता है जिसे हम वित कह सकते है। वित्त के प्रमुख स्रोत क्या है वित्त को प्राप्त करने का मुख्य साधन है कार्य हमारे द्वारा किया गया कार्य का रूप ही है मुद्रा।कार्य के गुणवत्ता के हिसाब से ही मुद्रा की मूल्य निर्धारण होता है।दूसरे शब्दों में कहें तो अधिक गुणवत्ता वाले कार्य का मूल्य अधिक है कम गुणवत्ता वाले कार्य का मूल्य कम होता है। परन्तु कुछ स्रोत ऐसे भी जिससे बिना कार्य के या अपने कार्य डेरा प्राप्त मूल्य को बढ़ाया जा सकता है जो निम्नलिखित है। व्यापार व्यापार के द्वारा भी धन को प्राप्त किया ज